कांग्रेसछत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ से दूसरी बार 3 महिला सांसद हुई निर्वाचित, पिछले लोकसभा चुनाव में भी 3 महिला सांसद पहुंची थी लोकसभा !

छत्तीसगढ़ में भाजपा और कांग्रेस ने तीन-तीन महिला प्रत्याशियों को मैदान में उतारा था भाजपा की दो और कांग्रेस की एक महिला प्रत्याशी ने जीत हासिल की है यानी इस बार छत्तीसगढ़ को तीन महिला सांसद मिली है जिनके हाथों में अब सांसदी की कमान होगी। छत्तीसगढ़ बनने के बाद यह पांचवा लोकसभा चुनाव है, 2019 में भी राज्य से 3 महिला सांसद चुनी गई थी। प्रदेश में पिछले दो लोकसभा चुनावों से महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ा है। 2019 के बाद इस चुनाव में भी 3 लोकसभा क्षेत्रों से महिलाएं निर्वाचित हुई हैं। 11 लोकसभा सीटों के हिसाब से राज्य में महिलाओं का प्रतिनिधित्व 27 फीसदी से ज्यादा है।

भाजपा ने जहां कोरबा से सरोज पाण्डे, जांजगीर-चांपा में कमलेश जांगड़े और महासमुंद से रूपकुमारी चौधरी को उम्मीदवार बनाया था, वहीं कांग्रेस ने रायगढ़ मे डॉ. मेनका देवी सिंह, सरगुजा से राशि सिंह कोराम और कोरबा से ज्योत्सना महंत चुनाव लड़ाया था। इन 6 प्रत्याशियों में भाजपा की दो कमलेश जांगड़े और रूपकुमारी चौधरी और कांग्रेस की ज्योत्सना महंत चुनाव जीतने में कामयाब रहीं। बाकी तीन प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा।

2004 और 2014 में थी एक-एक महिला सांसद

राज्य बनने के बाद 2004 में हुए पहले लोकसभा चुनाव में जांजगीर लोकसभा क्षेत्र से करुणा शुक्ला एक मात्र महिला सांसद निवाचित हुई थीं। लेकिन 2009 में हुए अगले चुनाव में सरोज पाण्डेय और कमलादेवी पाटले सांसद निर्वाचित हुई। 2014 के चुनाव में फिर कमला देवी पाटले अकेले महिला सांसद के रूप में निर्वाचित हुई। लेकिन 2019 में महिला सांसदों की संख्या बढ़कर तीन हो गई।

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button