खास खबरनई दिल्ली

दुष्प्रभावों के खुलासे के बाद कोविशील्ड खुराक का विनिर्माण, अतिरिक्त आपूर्ति रोकी : सीरम इंस्टीट्यूट! पढ़े आगे की पूरी ख़बर

नई दिल्ली- ब्रिटिश-स्वीडिश फार्मा दिग्गज एस्ट्राजेनेका ने वैश्विक स्तर पर अपनी कोविड-19 वैक्सीन वापस ले ली है, पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने बुधवार को कहा कि उसने दिसंबर 2021 में कोविशील्ड की अतिरिक्त खुराक का निर्माण और आपूर्ति बंद कर दी है।

एस्ट्राजेनेका ने स्वेच्छा से अपने कोविड वैक्सीन के विपणन प्राधिकरण को वापस ले लिया है, जिसे भारत में कोविशील्ड और यूरोप में वैक्सजेवरिया के रूप में बेचा जाता है।

एसआईआई के एक प्रवक्ता ने कहा कि भारत में 2021 और 2022 में उच्च टीकाकरण दर हासिल करने के साथ-साथ नए उत्परिवर्ती प्रकार के उपभेदों के उद्भव के साथ पिछले टीकों की मांग काफी कम हो गई है।

प्रवक्ता ने कहा, परिणामस्वरूप दिसंबर 2021 से हमने कोविशील्ड की अतिरिक्त खुराक का निर्माण और आपूर्ति बंद कर दी है।

सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा कि वे चल रही चिंताओं को पूरी तरह से समझते हैं और पारदर्शिता और सुरक्षा के प्रति हमारी प्रतिबद्धता पर जोर देना महत्वपूर्ण है।

कंपनी ने कहा कि शुरुआत से ही, हमने 2021 में पैकेजिंग इंसर्ट में थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम के साथ थ्रोम्बोसिस सहित सभी दुर्लभ से बहुत दुर्लभ दुष्प्रभावों का खुलासा किया है।

थ्रोम्बोटिक थ्रोम्बोसाइटोपेनिक सिंड्रोम (टीटीएस) एक दुर्लभ दुष्प्रभाव है, जिसके कारण लोगों में रक्त के थक्के बन सकते हैं और रक्त में प्लेटलेट की संख्या कम हो सकती है, जो ब्रिटेन में कम से कम 81 मौतों के साथ-साथ सैकड़ों गंभीर मामलों से जुड़ी है।

एसआईआई ने जोर देकर कहा कि वैश्विक महामारी के दौरान चुनौतियों का सामना करने के बावजूद टीके की सुरक्षा सर्वोपरि बनी हुई है।

सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा, चाहे वह एस्ट्राजेनेका का वैक्सजर्वरिया हो या हमारा अपना कोविशील्ड, दोनों टीके दुनिया भर में लाखों लोगों की जान बचाने में सहायक रहे हैं।

हम महामारी के लिए एकीकृत वैश्विक प्रतिक्रिया को सुविधाजनक बनाने में सरकारों और मंत्रालयों के सहयोगात्मक प्रयासों की सराहना करते हैं।

इस बीच, यूके में एक उच्च न्यायालय मामले में 50 से अधिक कथित पीडि़तों और दुखी रिश्तेदारों द्वारा ब्रिटिश-स्वीडिश बहुराष्ट्रीय फार्मास्युटिकल पर भी मुकदमा दायर किया जा रहा है।

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button