छत्तीसगढ़दुर्गरायपुर

पेट्रोल डीजल की कीमत कम करने का प्रयास एवं महिलाओ को आत्म निर्भर बनाना पहली प्रथमिकता- राजेन्द्र साहू! पढ़े आगे की ख़बर

 

 

दुर्ग- चुनाव प्रचार के आखिरी दिन दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार राजेन्द्र साहू ने बालोद विधानसभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती संगीता सिन्हा, बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक आसिष छाबड़ा, बेमेतरा जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व जिलाध्यक्ष अवनीश राघव, वर्तमान जिला अध्यक्ष बंसी पटेल, जिला पंचायत सदस्य शशिप्रभा गायकवाड की मौजूदगी में बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत परपोड़ा, मोहबठ्ठा, कोदवा, देवरबीजा, बैजलपुर, तारालिम, निनवा, लेंजवारा, सरदा, कुसुमी में जाकर धुंवाधार प्रचार किया। उन्हें सभी ग्रामों के मतदाताओं का भरपूर जनसमर्थन मिल रहा है। ग्रामवासियों ने सीधे शब्दों में कहा कि मौजूदा सांसद एवं भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार विजय बघेल ने कभी हमारे ग्राम पंचायतों की सुध नहीं ली। जनसभा के माध्यम से आमजनों को सम्बोधित करते हुए बालोद की विधायक श्रीमती संगीता सिन्हा ने कहा कि देश में महंगाई चरम सीमा पर है आज दाल की कीमत एक सौ अस्सी रुपये है, सिलेंडर का भाव आसमान छू रहा है जिस पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मुखिया नरेन्द्र मोदी का कंट्रोल नही है।

आज सोने का भाव पचहत्तर हजार रुपये प्रति तोला हो गया है जो आम आदमी की पहुंच से काफी दूर है। केंद्र में कांग्रेस सरकार बनाए जिससे ऐसी सरकार बने जो मनरेगा के तहत मिल रही दो सौ तिरालिश रुपये मजदूरी की जगह चार सौ रुपये मजदूरी दिया जाएगा जिससे उनके अंदर आत्मसम्मान की भावना जाग उठे। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए गरीब महिलाओं को सालाना एक लाख रुपये दिया जाएगा इसलिए एक एक मतदाता पंजा छाप पर बटन दबाकर कांग्रेस पार्टी को जिताएं और केंद्र में किसानों एवं मजदूरों की सरकार बनाए और दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी भाई राजेन्द्र साहू को पंजा छाप में दो नम्बर पर बटन दबाकर भारी भारी मतों से जिताएं। जनसभाओ को सम्बोधित करते हुए बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक आशिष छाबड़ा ने कहा कि राजेन्द्र साहू किसी परिचय के मोहताज नहीं है उनका गृहग्राम बेरला ब्लॉक के अंतर्गत आने वाला ग्राम पंचायत बोरिया है। हमको आज गर्व हो रहा है दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से लोकसभा का प्रत्याशी बेमेतरा जिले का मूल निवासी है। इस बार लोकसभा चुनाव में दो अलग अलग विचारधारा रखने वाली पार्टियों के बीच मुकाबला है। कांग्रेस पार्टी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पण्डित जवाहर लाल नेहरू , सरदार वल्लभ भाई पटेल, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, लालबहादुर शास्त्री, वीरांगना श्रीमती इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की विचारधारा वाली पार्टी है जो संविधान का पालन करते हुए किसानों एवं मजदूरों के हित में कार्य करती है। दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा यह है कि वो संविधान बदलने उद्योपतियों का कर्जा माफ करने वाली पार्टी है जो नाथूराम गोडसे और वीर सावरकर के सिद्धांतों पर चलती है। देश का हालात बद से बत्तर है मंहगाई दिन ब दिन बढ़ती जा रही है खाद्य पदार्थों रासायनिक खाद पेट्रोल डीजल का दाम बढ़ते हुए आसमान छू रहा है।कांग्रेस

पार्टी की सरकार अगर केंद्र में बनती है तो गरीब महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सालाना एक लाख रुपये देगी । इसलिए आप से विनम्र निवेदन है कि सात मई को दुर्ग लोकसभा क्ष्रेत्र के युवा कर्मठ एवं जुझारू प्रत्याशी राजेन्द्र साहू को भारी मतों से जिताए जो आम जनता की पीड़ा को संसद में उठा सकें। हम मिलजुलकर काम करेंगे आपके हर सुख दुख में आपके साथ खड़े रहेंगें।जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवार राजेन्द्र साहू ने कहा छत्तीसगढ़ की जनता ने 2018 के विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक फतह हासिल करते हुए कांग्रेस की सरकार बनाई थी भूपेश बघेल की अगुवाई वाली सरकार ने अपने घोषणापत्र जिन योजनाओं को शामिल किया था सबको पूरा किया । सरकार बनते ही किसानों का दस हजार करोड़ रुपये का कर्जा माफ किया। बेरोजगार युवकों को पच्चीस सौ रुपये बेरोजगारी भत्ता दिया और दो रुपये प्रति किलो की दर से गोबर खरीदने वाला देश का पहला राज्य बना। पैंतीश किलो का राशन देने वाला देश का पहला राज्य था। लेकिन जैसे ही भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी कांग्रेस पार्टी द्वारा बनाई गई योजनाओं को रद्द कर दिया आज पैंतीश किलो चावल के बदले पन्द्रह किलो चावल देने का फैसला उठाया हैं। गरीब मजदूरों के हक में डण्डा मारने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने निशुल्क शिक्षा दे रही आत्मानंद स्कूलों में अब फीस ले रही है। बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देना बंद कर दिया।

जनसभाओं में डोमन साहू मनोज साहू, महेंद्र साहू, राजेश देवांगन, कोमल साहू ,उमेन्द्र साहू ,बलराम साहू, मनोहर साहू, बोधन साहू, प्रहलाद साहू, गोकुल निषाद, पंचराम कुर्रे सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामवासी मौजूद थे।

 

 

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button