छतीसगढ़ चुनाव 2023छत्तीसगढ़

कौन हैं विष्णु देव साय, जिनपर बीजेपी ने जताया भरोसा

रायपुर – छत्तीसगढ़ की जनता पिछले एक सप्ताह से नए सीएम के नाम की घोषणा का इंतजार कर रही थी. रविवार के दिन उनका इंतजार खत्म हो गया जब बीजेपी (BJP) की विधायक दल की बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय (Vishnu Deo Sai) को निर्विरोध सीएम चुन लिया गया. बीजेपी राज्य में अपने लिए एक बड़ा आदिवासी चेहरा ढूंढ रही थी और विष्णुदेव साय (59) के रूप में उनकी खोज पूरी हो गई. साय के पास 30 साल से अधिक लंबा राजनीतिक अनुभव है तो वहीं अपने सरल स्वभाव के कारण बीजेपी के नेताओं में उनकी अच्छी साख है. संघ में अच्छी पकड़ रखने वाले विष्णुदेव साय, पूर्व सीएम रमन सिंह के भी बेहद करीबी माने जाते हैं.

चुनाव के नतीजे आने के बाद कई चेहरों पर चर्चाएं चल रही थीं जिनमें आदिवासी और गैर-आदिवासी चेहरे शामिल थे. पूर्व केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव, गोमती साय और पूर्व मंत्री लता उसेंडी को लेकर चर्चा तेज थी लेकिन रविवार को विष्णुदेव साय के चेहरे पर मुहर लग गई. बीजेपी ने आदिवासी चेहरे पर दांव खेलते हुए विष्णुदेव को चुना जिनके पास राज्य से लेकर केंद्रीय राजनीति का अच्छा खासा अनुभव है.

संयुक्त मध्य प्रदेश विधानसभा में भी रहे हैं विधायक
विधायक के तौर पर यह विष्णुदेव साय का तीसरा कार्यकाल है. उन्होंने इस बार कुनकुरी में कांग्रेस के उद मिंज को हराया. विष्णु देव को 87604 वोट मिले जबकि मिंज को 62063 वोट हासिल हुए थे. साय वर्ष 1990 से राजनीति में है. वह 1990 में संयुक्त मध्य प्रदेश में विधायक निर्वाचित हुए थे.

केंद्र में इन मंत्रालयों का देखा है जिम्मा
साय चार बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए. 2014 से 2019 के बीच केंद्रीय राज्य मंत्री भी रहे. इस दौरान अलग-अलग समय पर स्टील, खनन और श्रम व रोजगार मंत्रालय में राज्य मंत्री की जिम्मेदारी निभाई. 2019 लोकसभा चुनाव में उन्हें टिकट नहीं मिला लेकिन पार्टी ने उनपर भरोसा दिखाते हुए जून 2020 में छत्तीसगढ़ का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया जिसपर वह अगस्त 2022 तक इस पद पर बने रहे. इससे पहले 2010 और 2014 में भी वह छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं.

 

नए सीएम का व्यक्तिगत जीवन
विष्णु साय के व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो उनके परिवार उनकी पत्नी कौशल्या साय, बेटे टीडी साय और बेटियां एन साय और स्मृति साय हैं. साय अपने सहकर्मियों के बीच एक विनम्र स्वभाव के राजनेता के रूप में जाने जाते हैं. उनके सीएम बनने की घोषणा के बाद बीजेपी नेता नारायण चंदेल ने कहा कि वह बहुत सहज, सरल और विनम्र हैं. एक ऐसा चेहरा है जिसका कोई विरोध नहीं कर पाया.

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button