खास खबरछत्तीसगढ़दुर्गदुर्ग-भिलाई विशेष

दुर्ग: गौठानों में उपलब्ध रहेंगे अब पशु चिकित्सक

– शहर को ग्रीन सिटी बनाने लगाए अधिक से अधिक पौधे

– जिला प्रशासन की हेल्पलाईन नम्बर जारी

दुर्ग – कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में नगरीय निकाय की बैठक में नगर निगम आयुक्तों से कहा कि नगरीय गौठानों में एक पशु चिकित्सक हमेशा उपलब्ध रहना चाहिए, ताकि जानवरों में उत्पन्न होने वाली बीमारियों का उपचार तुरंत हो सके। उन्होंने अधिकारियों को रोका-छेका अभियान के तहत गौठानों का निरीक्षण स्वयं जाकर करने को कहा, ताकि गौठानों में चारा, पानी आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर सकें। पशुओं को सुरक्षित रखने के लिए गौठानों में बाउण्ड्रीवॉल बनाने को कहा ताकि गौठान से पशु बाहर न आ सकें। कलेक्टर ने आम नगारिकों से अपील की है कि शहर में किसी भी प्रकार की परेशानी जैसे खराब सड़क व सड़क पर मवेशी पाए जाने पर जिला प्रशासन की हेल्पलाईन नम्बर- 18002330788 में सम्पर्क कर सकते हैं।
कलेक्टर ने नगरीय निकाय में वृक्षारोपण हेतु ट्री गार्ड एवं पौधे की उपलब्धता की जानकारी लेते हुए कहा कि शहर को हरा-भरा करने के लिए सभी मुख्य मार्ग, शासकीय बिल्ंिडग, मार्केट, दुकानों, कॉलोनियों एवं घर-घर में सभी खाली जगहों में पौधे लगाए जाएंगे। उन्होंने कलेक्टोरेट के उद्यान और बाउण्ड्रीवॉल के किनारे छोटे-बड़े पौधे लगाने के निर्देश दिए।
उन्होंने डिवाईडरों व सड़क किनारे फूल के पौधे एवं फलदार वृक्ष लगाने को कहा। जगह के हिसाब से कन्हेर, बोगनविलिया के छोटे, फलदार एवं छायादार वृक्ष लगाते हुए वृक्षारोपण के कार्य को शीघ्र पूर्ण करने को कहा। उन्होंने सभी रिक्त स्थानों में प्लांटेशन करने को कहा। दुर्ग नगर निगम ने वृक्षारोपण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए वन होम वन ट्री अभियान शुरू किया है, जिसके अंतर्गत निगम द्वारा निःशुल्क पौधे उपलब्ध कराया जा रहा है।
नगर निगम भिलाई द्वारा 20 हजार पौधे बोगनविलिया, अशोक के 300 पौधे, पुत्रजीवी के 300 पौधे लगाए जाएंगे और 100 नग विभिन्न प्रकार के पौधे लगाए जाएंगे। नगर निगम रिसाली द्वारा 10 हजार पौधे लगाए जाएंगे, जिसमें कटहल, जामुन, नीम, आंवला, बादाम, कन्हेर, बोगनविलिया, अशोक, करंजा शामिल है। नगर निगम दुर्ग द्वारा करंज, बेल, अमरूद, कचनार, कोनोकारपस, कदम, बादाम, सेवंती, बोगनविलिया, यूकोबिया, एरिकापाम, नीम, हमेलिया, अलमंडा, नीलकंठ, स्पाईडरलिल्ली, चम्पा व रातरानी के पौधे लगाए जाएंगे। जामुल में अशोक व विभिन्न प्रकार के पौधे लगाए जाएंगे। अहिवारा में 3 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य है, जिसमें छायादार पौधे व विभिन्न प्रकार के पौधे लगाए जाएंगे। धमधा में नीम, आवला, ईमली, अशोक, जामुन, कटहल, अमरूद, सीताफल, बेलपत्र, करंच, गुलमोहर, कनेर, कचनार, बादाम, कदम, पीपल, आम, मुंगा व शीशम के पौधे लगाए जाएंगे। इसी प्रकार भिलाई चरौदा, उतई, पाटन व कुम्हारी में भी विभिन्न प्रकार के पौधे लगाए जाएंगे।
वेंडिंग जोन की जानकारी लेते हुए कलेक्टर ने सड़क किनारे स्थित ठेले व खोमचे को व्यवस्थित करते हुए वेंडिंग जोन में स्थापित करने को कहा। साथ ही इसे आकर्षक बनाते हुए वेंडिंग जोन के आसपास छोटे-छोटे पौधे लगाने को कहा। उन्होंने जनदर्शन में प्राप्त आवेदनों की स्थिति की जानकारी लेते हुए कहा कि जनदर्शन के आवेदनों को प्राथमिकता से लेते हुए अपूर्ण आवेदनों को शीघ्र पूर्ण करने को कहा। बैठक में नगरीय निकायों के आयुक्त एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी उपस्थित थे।

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button