Uncategorized

स्वास्थ्य कर्मचारी प्रदेश भर में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, जाने क्या है माँगे

 

दुर्ग। प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रांतीय निकाय के आह्वान पर 5 जुलाई से स्वास्थ्य कर्मचारी पूरे प्रदेश में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री सैय्यद असलम उप प्रातांध्यक्ष प्रमेश पाल संभागीय अध्यक्ष अजय नायक जिला अध्यक्ष सत्येन्द्र गुप्ता ने संयुक्त रूप से बताया कि 24 सूत्रीय मांगों पर शासन प्रशासन को कई बार धरना प्रदर्शन ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया गया लेकिन कोई सकारात्मक परिणाम नहीं आने पर मजबुर होकर स्वास्थ्य कर्मचारी हड़ताल पर जा रहे हैं ।

प्रदेश महामंत्री सैय्यद असलम ने बताया कि प्रमुख मांगों में सभी कैडरों के वेतनमान में व्याप्त विसंगति दूर करतें हुए केंद्र के समान वेतनमान देने, सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों को एक कैलेंडर वर्ष में 13माह का वेतन देने, नर्सिंग संवर्ग के समस्त स्टाफ,स्टाफ नर्सों, एल एच व्ही, स्वास्थ्य संयोजिका को पोशाक रखरखाव भत्ता 500 प्रति माह देने, समस्त संविदा कर्मियों को नियमित करने, सीएचओ को 25000 मानदेय एंव नियमित करना, जीवन दीप समिति के कर्मचारियों को कलेक्टर दर पर भुगतान एंव विभाग में निकल रही नियुक्ति में प्राथमिक देते हुए नियमित करना, रेडियो ग्राफ को रेडिएशन भत्ता बढ़ाने,सभी तृतीय एंव चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को उनके गृहनगर में 1500 वर्गफीट भूखंड आवंटन एंव भवन निर्माण कर उसकी कीमत कर्मचारियों से प्रतिमाह वेतन से कटौती कर वसूल कर दिए जाने, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को पोशाक सिलाई दर पुनः निर्धारित करने, सभी अस्पतालों में ओपीडी समय 8 से 2 बजे तक एक समय करने,एन एच एम के सभी कैडर को निश्चित सेवा 62 वर्ष करने एंव पदों का सृजन कर नियमित करना जैसे मांग सम्मिलित हैं छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने कल से होने वाली असुविधा के लिए खेद जताया है ओर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व उप मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव से जनहित में मांगों पर चर्चा कर निराकरण करने अपील की है मांगों के समर्थन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाटन, धमधा,निकुम , सिविल अस्पताल सुपेला,जिला अस्पताल दुर्ग एंव मेडिकल कालेज दुर्ग एंव सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, हेल्थ एंड वेलेंस सेंटर उप स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारियों ने हड़ताल में सम्मिलित होने की सहमति दी है।

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button