दुर्ग पुलिसदुर्ग-भिलाई विशेष

महादेव सट्टे का कारोबार छत्तीसगढ़ से हिमाचल तक फैला…

भिलाई। हिमाचल प्रदेश में महादेव बुक सट्टा पैनेल चलाने वाले तीन युवकों को पुलिस ने सेक्टर-1 पार्क से गिरफ्तार किया है।

शनिवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि दुर्ग पुलिस द्वारा महादेव और रेड्डी अन्ना ऑनलाइन सट्टा खिलाने वालों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसे देखते हुए दुर्ग जिले की युवा अब छत्तीसगढ़ सहित दूसरे राज्यों में अपना ठिकाना बनाए हुए है। पूर्व में पकड़े गए आरोपियों से मिली जानकारी के आधार पर पूरे देश में कार्रवाई करते हुए महादेव बुक से जुड़े पैनेलों को ध्वस्त किया जा रहा है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 10 दिसंबर को मुखबीर से टेलीफोन सूचना मिली कि कुछ लोग अपने पास रखे लैपटाप, टैबलेट, मोबाइल के माध्यम से महादेव आईडी के नाम से प्रचालित ऑनलाईन सट्टा का खेल खिलाया जा रहा है। सूचना पर पुलिस की टीम अम्बेडकर गार्डन सेक्टर-1 मिलाई पहुँची जहाँ पर कुछ लोग गार्डन के एक किनारे में बैठे मिले। घेराबंदी कर पकड़े गए युवकों ने पूछताछ करने पर अपना नाम निखिल मिश्रा पिता शैलेन्द्र मिश्रा उम्र 19 वर्ष पता मकान नं. ईडब्लूएस 1277, हाउसींग बोर्ड, थाना जामुल, विवेक शास्त्री पिता अंगद शास्त्री उम्र 21 वर्ष पता मकान नं. 210, सुन्दर विहार कालोनी, थाना जामुल तथा अमित सिंह पिता कारेलाल सिंह उम्र 27 वर्ष पता केम्प 01, 18 नंबर रोड, उमा पब्लिक स्कूल पास, थाना वैशाली नगर का होना बताया गया।

निखिल मिश्रा द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर दिनांक 19/10/2022 को हिमाचल प्रदेश के घनोटी जिला शिमला में गया। जहाँ पर दिनांक 22/10/2022 से होटल को प्रतिमाह 2.50 लाख रूपये की दर से किराये में लेकर अपने अन्य साथियों के साथ महादेव आईडी के नाम से ऑनलाईन सट्टा का काम चलाया गया। महादेव आईडी के 01 ब्रांच में कुल 06 पैनल (साईट) चलाया जाता है। ब्रांच को कुल 04 व्यक्तियों के द्वारा चलाया जा रहा था। विगत 01 माह में ऑनलाईन सट्टा के नाम पर कुल 30 लाख रूपये का टर्नओव्हर किया गया था। काम में नुकसान होने के कारण शिमला से वापस भिलाई आ गये। अमित द्वारा महादेव आईडी को खरीदने के लिए नागपुर के किसी एक व्यक्ति से 06 लाख रूपये में बातचीत हुयी, आईडी लेनदेन का बातचीत अमित एवं विवेक के साथ मिलकर किया गया था। वर्तमान में महादेव आईडी ऑनलाईन सट्टा नामक जुआ खिलवा कर अवैध रूप से धन अर्जित करने के संबंध में मेनोरेण्डस कथन दिये। आरोपी के बैंक खाता में हुए सभी ट्रांजेक्शन के संबंध में संबंधित बैंक को पत्राचार किया गया है, उक्त आई.डी. के संबंध में सायबर सेल भिलाई को जानकारी हेतु पत्राचार किया गया है। उक्त मामला महादेव आई.डी. से संबंधित होने से घटना में उपयोग किये गये 02 नग लैपटॉप, 01 नग टेबलेट, 05 नग मोबाइल, 02 नग एटीएम कार्ड, 01 चेकबुक को आरोपी के कब्जे से जप्त किया गया है। आरोपी के विरुद्ध अपराध क्रमाक 161/2022 धारा 4(क) जुआ एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया है। उक्त कार्रवाई में निरीक्षक कृष्ण कुमार कुशवाहा, सउनि नागेन्द्र बंछोर, आरक्षक अजय सिंह, मोहम्मद शफीक, राजेन्द्र बंसोड़ की उल्लेखनीय भूमिका रही।

 

6 लाख रु. का आईडी, मिलता है 10 प्रतिशत –

गिरफ्तार आरोपी निखिल मिश्रा ने बताया कि महादेव सट्टा खिलाने से पहले वे अपने पिता के दुकान में बैठा करते थे। दुकान से किसी को कुछ बिना बताए उसने 1.50 लाख रुपए चुरा लिए थे। साथ ही सट्टा चलाने के लिए उपयोग में आने वाले लैपटॉप, मोबाइल आदि के लिए करीब 1.50 लाख रुपए खर्च किए। निखिल ने बताया उसे सोनू पांडे से 6 लाख रुपए में आईडी लिया था। साथ ही शिमला में डीएफसी होटल को एक माह के लिए 2.50 लाख रुपए में किराये पर लिया था।

 

धोखाधड़ी में भी धोखाधड़ी, एक ही आईडी को कई लोगों को बेचा जा रहा है –

आरोपी निलिख ने बताया कि आज कल महादेव बुक ऑनलाइन सट्टा चलाने वाले आरोपी भी धोखाधड़ी के शिकार हो रहे है। उसने बताया कि एक ही आईडी को कई लोगों को बेचा जा रहा है। लाखों रुपए देकर आईडी लेने के बाद हेड ऑफिस से उस आईडी को ब्लाक कर दिया जाता है। ऐसे में महादेव बुक ऑनलाइन सट्टा खिलाने वाले लोग भी धोखाधड़ी के शिकार हो रहे हैं।

The Samachaar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button